Tele Show Updates
Latest Written Updates of Indian Television Show

कुलदीपक 23 मई 2017 लिखित एपिसोड अपडेट

0 5

दृश्य 1
विद्या मूर्ति को देखती है और कहती है कि मूर्ति यहाँ कौन रखती है? और इस तरह? मंजिला कहती हैं विद्या तुम कहाँ हो, स्कूल के लिए देर हो रही है? विद्या बाहर निकलती है
विद्या और दीवान ने चिराग को स्कूल छोड़ दिया। चिराग कहते हैं कि मैं चकाचौंध में तेज दिखता हूं। विद्या कहते हैं कि आपको अपना वादा सही याद है? वह कहता है, न गुस्सा या लड़ाई करना। वह उसे चुंबन चिराग का कहना है कि माँ आप कहीं भी चुंबन करते हैं। मैं अब दीवाण हो गया हूं, आप बड़े हो चुके हैं। बुलबुल आता है और उसे गले लगाते हैं। वह कहती है कि तुम कहाँ थे? मैं वास्तव में तुम्हें याद कर रहा था मेरी माँ ने सोचा कि मैं अच्छी तरह से नहीं था। माँ ने एक डॉक्टर को बुलाया डॉक्टर क्या कर सकते हैं? चिराग कहते हैं कि मेरे पिताजी वह कहती हैं ओह माफ करना, हाय चाचा दीवान का कहना है कि बुलबुल चिराग के साथ। बुलबुल कहते हैं, चिंता मत करो। मैं उनकी देखभाल करने के लिए यहां हूं।

दीवान कहते हैं कि अपनी बेटी को देखें। विद्या हंसते हुए कहते हैं।
चुराग दाई की कानाफूसी सुनाता है बुलबुल कहता है कि आप कहां देख रहे हैं? वह कहते हैं कि आप कक्षा में जाते हैं मैं बाद में आऊंगा। वह कहती है कि तेजी से आओ।

दीवान का कहना है कि मेरी मीटिंग के लिए बहुत देर हो चुकी है विद्या कहते हैं, कार को रोको। चुयराग गाड़ी में पानी की बोतल को भूल गया। वह कहता है कि तुम जाओ और इसे स्कूल में ले जाओ वह कहते हैं, हाँ, आप अपनी मीटिंग में जाते हैं।

दाई स्कूल में चिराग से मिलते हैं। वह चिराग को कहती है कि हमें उस यशोद्दीन से बदला लेना होगा। हमें उसे एक सबक सिखाना होगा विद्या स्कूल में वापस अपने रास्ते पर है। दाई ने आज कहा कि अंधेरी रात है हमारी शक्तियां मजबूत हैं आज हम उस यशुदन को मार सकते हैं हमें इस दिन याद रखना चाहिए।
विद्या कक्षा में आता है शिक्षक कहते हैं कि चिराग आज स्कूल में नहीं आया। वह कहती है कि कोई भी चिराग स्कूल नहीं आया था। विद्या कहते हैं कि मैं उसे खुद छोड़ दिया। वो कैसे संभव है। विद्या बाहर चलाता है।

दृश्य 2
Yashoduin मंदिर में प्रार्थना कर रहा है हवाओं का झटका और उसके सारे कागजात यहाँ और वहां फैल गए। वह उन्हें लेने की कोशिश करता है दाई और चिराग आते हैं वह कहती है आज आपको अपने भगवान के साथ गड़बड़ करने के लिए भुगतान करना होगा। आज आप को जो किया उसके लिए आपको दंडित किया जाएगा। आज आपका अंतिम दिन होगा यशोधन कहते हैं कि सच्चाई हमेशा जीतती है। चिराग भी आता है Yashodin उन्हें अपनी पुस्तक दिखाता है और वे दोनों गिर जाते हैं। दाई कहते हैं, उसे भगवान पर हमला चिराग का हमलों yashodin उनकी किताब गिर गई। चिराग घायल यशोधिन। विद्या उसके रास्ते में है वह चिराग की तलाश में है

यशोधिन अपनी किताब फिर से उठाता है। चिराग और दाई गिरते हैं चिराग कहता है कि मुझे छोड़ दो मुझे। विद्या चिरघ की आवाज सुनते हैं चिराग का कहना है कि यह सब यशोडिन बंद करो। यशोद्दीन अपने मंत्र को पढ़ता है दाई ने कुछ को देखकर फेंक दिया। Yashodin नीचे गिरता है दाई कहते हैं कि आज आप हमारी शक्तियों को नियंत्रित नहीं कर सकते। हम आपको मार देंगे। चुराघ खड़ा है दाई कहते हैं कि उसे भगवान मार डालें विद्या वहां आता है चिराग का कहना है कि आपको यषादोिन मरना होगा। तुम मर चुके हो विद्या चकित है चिराग का कहना है कि कोई भी आपको बचा सकता है विद्या चौंक गई है। वह अपनी थैली छोड़ देती है चिराग अपने हाथों को स्थानांतरित करता है और yashodin तैरता है। विद्या यह सब देखता है वह चकित है

चुराग ने कहा कि तुमने सोचा कि मैं एक बेवकूफ बच्चा हूं जिसे आप नियंत्रित कर सकते हैं? आपने मेरी शक्तियों को देखा? अब आप जानते हैं कि मैं कौन हूँ? आप अपने आप को नहीं बचा सकते
Yashodin कहते हैं कि आप बुरा नहीं हैं इस औरत ने आपको ये बनाया है आप अपने परिवार के बेटे हैं वह आपको यह सब कर रही है। दाई कहते हैं भगवान की बात नहीं करते उसे मार दो।
Yashodin कहते हैं, अपनी माँ का वादा याद है चिराग हंसते हुए कहते हैं वह कहता है कि तुम इतनी डरावना यशोडिन हो आपने मेरे लिए इतनी परेशानी खड़ी की है मैं डर गया था कि आप मुझे बेनकाब करेंगे आप कभी सफल नहीं हो सकते लेकिन इससे पहले कि आप जितना अधिक प्रयास करें, आपको मरना होगा। आपने जो किया उसके लिए आप भुगतान करेंगे। विद्या चिराग चिल्लाते हैं .. दाई उसे देखती हैं विद्या कहते हैं कि तुम क्या कर रहे हो। यह सब क्या है।

प्रीकैप-दाई कहते हैं, चूरघ आपका बेटा नहीं है। मैंने उसे मार दिया जब वह पैदा हुआ था। विद्या कहते हैं कि चिराग मेरा बेटा है और हमेशा होगा। दाई का कहना है कि उसे भी चिराग मारना है। चिराग विद्या की ओर बढ़ता है।

Loading...
Loading...