जाना ना दिल से दूर 8 मार्च 2017 लिखित एपिसोड अपडेट

जाना ना दिल से दूर 8 मार्च 2017 लिखित एपिसोड अपडेट और जाना ना दिल से दूर 8 मार्च 2017 teleshowupdates.com पर ऑनलाइन देखें

एपिसोड शुरू होता है चिंटू का कहना है कि हम इस लड़के के परिवार से अब संपर्क कर सकते हैं। वह अखबार को दिखाता है और कहता है कि उनका नाम माधव है। अथर्व समाचार पत्र लेता है। सुमन चिंताग्रस्त हो जाता है अथर्व को विविधता कहते हैं। विविध कहते हैं रविश, इसकी कुछ अज्ञात संख्या। रश कार को रोकता है और जवाब कॉल करता है। अथर्व कहते हैं कि माधव के बारे में मैंने पढ़ा, वह सुरक्षित है, वह सिर्फ डरा हुआ है। रविश वर्धा को बताता है कि माधव सुरक्षित है। रवीश उसे धन्यवाद अथर्व ने कहा कि मैं समझ सकता हूँ, मुझे बताओ कि उसे कहाँ ले जाना है रविश कहते हैं कि मैं आऊंगा, धन्यवाद। अथर्व ने कहा कि मैं उसे बगीचे क्षेत्र के पास ले जाऊंगा, जो मेरे घर से दूर नहीं है, हम वहां मिल सकते हैं। रश ठीक कहते हैं, क्या हम आपका नाम जान सकते हैं अथर्व बिना राघव रविश कहते हैं कि मैं शीघ्र ही पहुंचूंगा।

ऋषि ने ऋषि को जल्द ही माधव को लेने के लिए कहा। वो जातें हैं। अथर्व ने माधव को आराम करने को कहा, मैं आपको अपने माता-पिता के पास ले जाऊंगा।

माधव पूछते हैं कि हम अब छोड़ देंगे। अथर्व ने अभी नहीं कहा, हम कुछ समय में जाएंगे। वह माधव को कमरे में ले जाता है वह उसे सोने के लिए पूछता है माधव कहते हैं कि मेरी माँ कहते हैं कि जूते के साथ सो नहीं होना चाहिए। अथर्व ने उससे जूते हटाने को कहा। माधव कहते हैं कि मैं नहीं जानता, मेरी माँ मुझे जूते पहनती हैं और वह केवल इसे हटा देती है, क्या आप अपने जूते बंद कर सकते हैं कृपया अथर्व उसे मदद करता है माधव उसे पकड़ लेते हैं और सोते हैं। अथर्व देखता है
अथर्व अपनी तरफ से बैठता है। रविश और विविध रास्ते पर हैं। सुमन चिंटू को बोले चिंटू और कलंडी पूछते हैं कि क्या हुआ। सुमन कहते हैं कि चिंटू ने सब कुछ बर्बाद कर दिया, अथर्व को विज्ञापन दिखाने की आवश्यकता क्या थी गुड्डी पूछते हैं कि क्या गलत है। सुमन कहते हैं कि आप जानते हैं कि वह बच्चा कौन है, वह कोई भी बच्चा नहीं है, वह माधव वशिष्ठ, रविश और वर्धा के पुत्र हैं। वे सब चकित हो जाओ

सुमन कहते हैं कि मैंने 4 साल के लिए कड़ी मेहनत की है कि अथर्व और विभेद एक दूसरे के सामने नहीं आते हैं, आपने इसे बर्बाद कर दिया है, मैं उनको मिलना नहीं दूँगा माधव जागते हैं और उठने के लिए अथर्व को पूछता है, मुझे अपने माता-पिता के पास जाना होगा। अथर्व ने कहा ठीक है, हम जायेंगे सुमन उन्हें देखता है। अथर्व वॉशरूम को जाता है।

माधव जूते पहनने के लिए बैठते हैं और लेस टाई करने की कोशिश करते हैं। गुड्डी पूछते हैं कि आप क्या कर रहे हैं वह सुमन को देखता है गुड्डी पूछते हैं कि आप वहां क्या देख रहे हैं। वह कहता है बुरा बुरा माँ, वह जाने के लिए किया था वह कहती है कि कोई नहीं है, दुखी मत हो, मुस्कुराते रहो।

अथर्व तैयार हो जाता है माधव ने उसे जल्दी करने के लिए कहा। अथर्व ने कहा कि मुझे तैयार हो जाओ। माधव कहते हैं कि मेरी माँ और पापा आपको लेने के लिए नहीं आ रही हैं, आप इतने तैयार क्यों हो रहे हैं। अथर्व पूछता है कि आप क्या देख रहे हैं, हम जा रहे हैं, प्रतीक्षा करें। माधव ने उन्हें स्वागत किया और कहा कि इसके देर से, तेज़ी से आओ अथर्व ने उसे नीचे जाने के लिए कहा माधव कहते हैं कि अगर मैं जाऊं तो अधिक समय लगेगा।

अथर्व पूछता है कि आप इस तरह से माँ और पापा से बात करते हैं। वह कहता है कि यह लड़का मुझे सिरदर्द मिला। वह कहते हैं, मुझे खुशी है कि आप जा रहे हैं माधव कहते हैं कि मैं और अधिक खुश हूँ, मेरी माँ और पापा मुझे बहुत प्यार करते हैं, मेरी पापा सबसे अच्छी है। अथर्व पूछता है कि उसका नाम क्या है। माधव कहते हैं रविश, और माँ भी बहुत अच्छा है। अथर्व पूछता है कि आपके माँ का नाम क्या है। माधव कहते हैं, वर्धा। अथर्व सोचता है सुमन और गुद्दी छिपाने और देखो।

अथर्व ने जो कुछ भी कहा, हम उन्हें अच्छे से मिला, अन्यथा आप अनाथालय में गए होंगे। माधव पूछते हैं कि क्या आपने मुझे ऐसी जगह छोड़ दी है, तो मैं भाग लेता हूं और आपको सबक सिखाता हूं। अथर्व मुस्कान और कहता है, शरारती …।

Ravish और Vividha जगह तक पहुंचने और प्रतीक्षा करें। वह चिंता करती है। रविश उसे आराम करने के लिए कहता है। माधव घर में चलते हैं। हर कोई मुस्कान अथर्व ने कहा कि वह एक समस्या है, वह बच्चा नहीं है, वह बहुत शरारती है। गुद्दी कहते हैं कि हमें उसे अपने माता-पिता को छोड़ना है, लेकिन आप बैठक कर रहे हैं, आप समय पर पहुंचने में सक्षम नहीं होंगे। सुमन गुड्डी को बताते हैं

विशाखा कहते हैं कि वह कहीं और इंतजार कर रहे हैं। रविश कहते हैं कि हम इस शहर में पहले यहां रहे थे, वे आएंगे, प्रतीक्षा करें। गुद्दी कहते हैं कि हम माधव को छोड़ देंगे। चिंटू कहते हैं कि मैं उसे छोड़ दूँगा गुड्डी कहते हैं, यह अच्छा होगा। अथर्व सहमत हैं चिंटू माधव लेता है

माधव ने कहा था अथर्व अथर्व मुस्कान वह चिंटू को रोकता है और कहता है कि मैं उसे छोड़ दूँगा सुमन को चौंक जाता है। विशाखा कहते हैं, उसे बुलाओ और पूछें कि वह कब आएगा, मैं कहूंगा। रविश कहते हैं कि वह हमें बुलाता है, वह आ जाएगा, राघव आ जाएगा। उसने राघव से पूछा वह हां कहते हैं, उस आदमी ने यह नाम कहा। वह सुमन की संख्या पर राघव की आने वाली कॉल याद करते हैं और सोचते हैं कि मुझे इस नाम से क्यों अजीब लग रहा है। गुड्डी कहते हैं, लेकिन आपके पास बैठक है अथर्व ने कहा, नहीं, मैं उसे छोड़ दूंगा, मैंने अपने पिता से बात की, वह मेरी जिम्मेदारी है, बैठक छोटा नहीं है। सुमन उसे रोक देता है और उसे दूध देता है वह कांच से पाउडर को साफ करती है वह अथर्व को इसे पीते हैं। अथर्व इसे पीता है वह छोड़ देता है।

Ravish पूछता है Vividha चिंता नहीं है, वे तक पहुंच जाएगा। वह रविश को फोन करने के लिए कहती है वे सफेद कार आ रही देखते हैं
प्रीकैप:

जाना ना दिल से दूर 9 मार्च 2017 लिखित एपिसोड अपडेट प्रीकैप:माधव कार को नीचे उतरते हैं और विधा और रविश में चलाते हैं। विशाधा उसे गले लगाते हैं और रोता है वह कहते हैं, मैं ठीक हूँ और हग रवीश। राघव जी कह रही है कि कार के लिए विद्वाना चलता है, बहुत बहुत धन्यवाद

Loading...